UP Gehu Kharid Online Registration 2021 – ई क्रय प्रणाली पोर्टल पूरी जानकारी

UP Gehu Kharid Online Registration 2021: UP सरकार द्वारा राज्य के किसानो के लिए कई सारी सेवायें और सुविधायें लेकर आई है। सरकार द्वारा राज्य के किसानो की फसलों के लिए ई-क्रय प्रणाली/ई-उपार्जन पोर्टल शुरू किया है। यह पोर्टल खाद्य एवं रसद विभाग द्वारा संचालित किया जाता है। राज्य के किसानो को अपनी फसलों के लिए इस पोर्टल पर पहले रजिस्ट्रेशन करना पड़ेगा। किसान अपना पंजीकरण करने के बाद वह अपनी रबी की फसल (गेहूं) को न्यूनतम समर्थन मूल्य (MSP) पर बेच सकता है। अब किसानो को अपनी फसल को बेचने के लिए किसी दलालों को बीच में नही लेना पड़ेगा। अब आसानी से अपनी फसल को पोर्टल की सहायता से बेच सकता है।

यदि आप इस पोर्टल पर अपना पंजीकरण करना चाहते है तो निचे दिए स्टेप को फॉलो करें। इस आर्टिकल में आपको UP Gehu Kharid Portal के बारे, पंजीकरण करने के जरूरी दस्तावेज, पात्रता, ई-क्रय प्रणाली eproc.up.gov.in, और पोर्टल से जुडी सभी जरूरी जानकारी देखने को मिल जाएगी। इसलिए आप इस आर्टिकल को अंत तक पढिये ताकि पंजीकरण करने में किसी समस्या का सामना न करना पड़े।

UP Gehu Kharid Online Registration
UP Gehu Kharid Online Registration

UP Gehu Kharid Online Registration 2021

उत्तर प्रदेश सरकार का लक्ष्य है की सभी किसानो की आय को दोगुनी करना है, ताकि वह अपने परिवार का पालन पोषण अच्छे से कर सकें । राज्य में बहुत से ऐसे किसान है जो अपनी फसलों को बहुत ही कम दामों पर बेचनी पड़ती है, इससे उन्हें काफी नुकसान उठाना पड़ता है, साथ ही वह आर्थिक रूप से कमजोर हो जाते है, और उनका आत्मविश्वास भी कम हो जाता है ।

इसलिए सरकार ने यह कदम उठाया है कि अब किसान अपनी फसल के लिए ऑनलाइन पोर्टल पर पंजीकरण करें, ताकि वे अपनी फसल का उचित मूल्य प्राप्त हो सकें। यदि आप गेहूं खरीद ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन करना चाहते है तो आपको आधिकारिक वेबसाइट पर जाकर कर सकते है।

UP Gehu Kharid 2021 Overview

पोर्टल का नामई-क्रय प्रणाली/ई-उपार्जन पोर्टल
योजना का नामउत्तर प्रदेश गेहू खरीद
किसके द्वारा शुरू की गईUP सरकार द्वारा
विभाग का नामखाद्य एवं रसद विभाग
राज्य का नामउत्तर प्रदेश
उद्देश्यराज्य के किसानो को उनकी फसल का उचित मूल्य प्रदान करना
लाभार्थीराज्य के सभी किसान
लाभकिसानो की आय को दोगुना करना
वर्ष2021
आवेदन की तिथिअभी जारी नही है
आवेदन की प्रक्रियाऑनलाइन
आधिकरिक वेबसाइटhttps://eproc.up.gov.in
हेल्पलाइन नंबर18001800150

उत्तर प्रदेश गेहू खरीद पोर्टल का उद्देश्य

UP गेहूं खरीद पोर्टल का मुख्य उद्देश्य किसानो को उनकी फसल का न्यूनतम समर्थन मूल्य (MSP) प्रदान करना और साथ ही उनकी आय में वृद्धि करना, इसके अलावा उनकी फसलों के लिए अतिरिक्त लाभ प्रदान करना। बता दें, सरकार ने यह पोर्टल इसलिए शुरू किया है, क्यौकी हाल ही में कोरोना वायरस के चलते देश के किसानो को कई सारी मुसीबतों का सामना करना पड़ा, और वह आर्थिक रूप से भी काफी कमजोर हो गये थे, इसलिए सरकार ने उनकी आय को दोगुना करने के लिए यह पोर्टल शुरू किया है। इस पोर्टल से वह अपनी फसल आसनी से बेच सकता है और बेचने पर जो राशी दी जाएगी वह उनके बैंक खाते में 72 घंटे के अंदर दी जाएगी। इसे किसानो को सीधा लाभ मिलेगा।

ई-क्रय प्रणाली की विशेषताएं/लाभ

  • इस पोर्टल की मदद से अब किसान अपना पंजीकरण करके फसल को न्यूनतम समर्थन मूल्य पर बेच सकता है।
  • किसान अपनी फसल को मंडी में ले जाने से पहले यूपी ई-उपार्जन पोर्टल पर ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन करना होगा। इसके बाद जो टोकन प्राप्त होगा जिससे की जब उसकी बारी आये तो मंडी में जाये।
  • सरकार ने किसानो की गेहूं की खरीद के लिए राज्यभर में 5500 खरीद केंद्र बनाए हैं।
  • सरकार ने इस साल 55 लाख मीट्रिक टन गेहूं की खरीद का लक्ष्य रखा गया, और साथ ही गेहूं की खरीद 1925 रुपये / क्विंटल के न्यूनतम समर्थन (MSP) मूल्य रखी गई।
  • इस क्रय प्रणाली का लाभ केवल उत्तर प्रदेश राज्य के किसानो को ही मिलेगा।
  • इस पोर्टल पर उन किसानो को लाभ दिया जायेगा जो गेहूं की फसल बेचना चाहते है।
  • इस पोर्टल के शुरू होने से किसानो को बार बार मंडी के चक्कर नहीं लगाने पड़ेगे, क्यौकी किसान को जो टोकन दिया जायेगा उससे तिथि दी जाएगी, किसान को उसी तिथि पर मंडी में जाना है।
  • इस पोर्टल के शुरू होने से राज्य में फसल क्रय प्रणाली में पारदर्शिता आई है।

UP गेहूं खरीद किसान पंजीकरण मुख्य बिंदु

  • किसान को अपनी गेहू के खेत का विवरण देना होगा।
  • सभी जानकारी सही सही भरनी होगी।
  • खेत के विवरण में आपको खतौनी/खसरा संख्या, गेहूं का रकबा सभी जानकारी देनी होगी ।
  • आवेदन दुवारा दी गई जानकारी ही सत्य मानी जाएगी।
  • किसान के पास सभी वैध दस्तावेज होने चाहिए, जैसे कि आधार कार्ड, बैंक पास बुक, व राजस्व अभिलेखों का विवरण आदि।
  • यदि किसान पोर्टल पर पंजीकरण करा लेता है तो वह रजिस्ट्रेशन नंबर का प्रिंट जरुर प्राप्त कर लें।
  • आप मोबाइल नंबर से रजिस्ट्रेशन ड्राफ्ट को फिर से प्रिंट कर सकते है।
  • आप मोबाइल नंबर से आवेदन में संसोधन करा सकते है।
  • यदि किसान 100 क्विंटल से अधिक गेहूं की बिक्री करना चाहता है तो उसे SDM से सत्यापन करना होगा।
  • ध्यान रहे जब तक आप आवेदन को लॉक नही कर लेते आपका आवेदन पूरा नही माना जायेगा।
  • आपके मोबाइल नंबर पर रजिस्ट्रेशन की पूरी प्रक्रिया भेजी जाएगी।
  • किसान यदि अपने गेहूं बेच लेता है तो उसे केंद्र प्रभारी से पावती पत्र अवश्य प्राप्त कर लें।

ई-पॉप मशीन के जरिये गेहूं खरीद की सुविधा

इस पोर्टल के माध्यम से अब सरकार ने गेहूं खरीद के लिए एक ई-पॉप (इलेक्ट्रॉनिक पॉइंट ऑफ़ पर्चेज) मशीन सेवा शुरू कर दी है । अब किसान गेहूं की खरीद के लिए ई पॉप मशीन का उपयोग कर सकता है। सरकार ने गेहूं खरीद के लिए 7 संस्थाए नियुक्त की है जैसे कि FCI, PCU, PCF, SFC आदि । अब सुबह 9 बजे से शाम 6 बजे तक किसान अपनी गेहूं की फसल बेच सकता है। ई पॉप मशीन आने से अब किसानो के समय की बचत हुई है और साथ ही गेहूं खरीद प्रणाली में आसान हो गयी है।

इस मशीन से अब किसान अपने अगुंठे या फिर उगलियों के प्रिंट करके अपनी फसल का बेचान कर सकता है। यदि कोई किसान शारीरिक रूप से फिट नहीं है और केंद्र में आने में असमर्थ है तो वह अपने परिवार के किसी भी सदस्यों को आधार कार्ड के साथ भेज सकता है। किसान को सदस्य की डिटेल्स आपको आवेदन फॉर्म भरते समय देनी होगी।

UP Gehu Kharid के पात्रता

  • इस योजना का लाभ केवल उत्तर प्रदेश राज्य के किसानों को ही दिया जायेगा ।
  • क्रय प्रणाली के लिए किसान के पास बैंक में खाता होना चाहिए।
  • जिन किसानो इस पोर्टल पर पंजीकरण किया है वही पात्र होगे।

UP Gehu Kharid Online Registration 2021 के दस्तावेज़

  • आधार कार्ड
  • वोटर ID कार्ड
  • मूलनिवास प्रमाण पत्र
  • राशन कार्ड
  • भूमि के कागजाद
  • जोत बही
  • भूमि या फसल का रकबा(क्षेत्रफल)
  • बैंक पास बुक
  • बैंक अकाउंट नंबर व IFSC कोड
  • पासपोर्ट साइज फोटो
  • रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर

UP गेहूं खरीद ऑनलाइन किसान पंजीकरण प्रक्रिया

  • सबसे पहले आपको गेहूं खरीद पोर्टल पर जाना होगा, पोर्टल पर आप eproc.up.gov.in/Uparjan/Home_Reg.aspx दी गई वेबसाइट की मदद से जा सकते है ।
  • इसके बाद आप होम पेज पर आ जायेगे, आपको इस पेज में “गेहूँ खरीद हेतु किसान पंजीकरण” का आप्शन दिखाई देगा, इस विकल्प पर क्लिक करना है।
  • जैसे ही आप इस विकल्प पर क्लिक करते है तो आपके सामने आवेदन फॉर्म ओपन हो जायेगा।
  • यह आवेदन फॉर्म आपको 6 स्टेप में पूरा करना है ।
    • स्टेप 1. पंजीकरण प्रारूप
      • जो लोग पंजीकरण प्रारूप देखना चाहते है वह इस विकल्प पर क्लिक करके देख सकता है ।
      • क्लिक करने के बाद आपके सामने Application Form PDF में ओपन होगा, जोकि एक तरह से प्रारूप है ।
    • स्टेप 2. पंजीकरण प्रपत्र
      • सबसे पहले आवेदक को यह फॉर्म को भरना है, इसमें किसान को मोबाइल नंबर, कैप्चा कोड भरना है।
      • इसके बाद सबमिट बटन पर क्लिक करना है ।
      • अब किसान के सामने “किसान ऑनलाइन पंजीकरण प्रपत्र / फॉर्म” ओपन हो जायेगा ।
      • इसमें आपको पूछे गए सभी विकल्प जैसे कि किसान का नाम, पता, मोबाइल नंबर, आधार कार्ड नंबर, पिता, पति का नाम, तहसील, जनपद आदि सही सही भरने है।
      • इसके बाद सबमिट बटन पर क्लिक कर देना है ।
    • स्टेप 3. पंजीकरण संशोधन/ड्राफ्ट
      • अगले चरण में आपको पंजीकरण ड्राफ्ट में संसोधन करना हो तो इस विकल्प पर क्लिक करना है।
      • रजिस्ट्रेशन फॉर्म भरते से यदि कोई गलत जानकारी भर दी हो तो आप इस स्टेप की मदद से सुधार कर सकते है ।
      • आपको इस विकल्प पर क्लिक करना है, इसके बाद एक पेज ओपन होगा जिसमे पंजीकरण संशोधन प्रपत्र ओपन हो जायेगा ।
      • इसमें आपको मोबाइल नंबर और कैप्चा कोड दर्ज करना है ।
      • अब आपको आगे बड़े विकल्प का चुनाव करना है ।
      • इसके बाद आपके सामने आवेदन फॉर्म ओपन हो जायेगा, इसमें आपको जो जानकारी गलत भरी है। उसे सही जरूरी कर लें ।
    • स्टेप 4. पंजीकरण लॉक
      • अगले स्टेप में आपको अपने फॉर्म को लॉक करना है ।
      • पहले अपने फॉर्म को एक बाद अच्छे से जाँच कर लें। उसके बाद आप फॉर्म को लॉक कर सकते है ।
      • ध्यान रहे पंजीकरण लॉक किये बिना आप आगे की प्रक्रिया नही कर सकते ।
    • स्टेप 5. पंजीकरण फाइनल प्रिंट
      • उपरोक्त चरण में आपको पंजीकरण को फाइनल प्रिंट निकलना है ।
      • फाइनल प्रिंट निकलने से पहले आपको आवेदन फॉर्म को अच्छे से जांच कर लें ।
      • प्रिंट प्राप्त करने के लिए किसान को इसमें मोबाइल नंबर डालना है और फिर कैप्चा कोड डालना है।
      • इसके बाद आगे बढे पर क्लिक करना है ।
      • अब आपके सामने भरा हुआ प्रपत्र ओपन हो जायेगा, इसका आप प्रिंट आउट प्राप्त कर लें ।
    • स्टेप 6. खरीद हेतु नामित सदस्य बदलें
      • अगले चरण में आपको गेहू खरीद हेतु सदस्य के बारे में विवरण दर्ज करें ।
      • इस चरण में आपको सदस्य के बारे में सारा विवरण दर्ज करें ।
      • अप आपको टोकन के लिए आगे बढे बटन पर क्लिक करना है ।
    • स्टेप 7. लॉक के उपरान्त टोकन बनाए
      • अंत में आपको जरुरी विवरण देने होगे ।
      • इस सेक्शन में किसान को अपनी फसल को ले जाने के लिए मंडी का डेट और टाइम से ही मंडी का टोकन बनाना होगा ।
      • इसके बाद आपको “लॉक के उपरान्त टोकन बनाए” पर क्लिक करना है ।
      • इसमें किसानो को “किसान पंजीयन आईo डीo अथवा मोबाइल न०:” और “कैप्चा अंकित करना है ।
      • अब आपको आगे बढे विकल्प का चयन करना है ।
      • अब टोकन पंजीकरण फॉर्म ओपन हो जायेगा । जिसमे क्रय हेतु टोकन किसान के रजिस्टर मोबाइल पर आएगा।
      • इस टोकन में यह लेखा होगा की आपको अपनी फसल को मंडी में लेकर कब जाना है।
  • इस तरह आप UP गेहूं खरीद के लिए ऑनलाइन आवेदन कर सकते है ।
  • नोट: अभी इस पोर्टल पर आवेदन की प्रक्रिया शुरू नही की है, जैसे आधिकारिक पोर्टल की तरफ से एक ऑफिसियल सुचना आएगी हम आपको सूचित कर देगे ।

मोबाइल ऐप डाउनलोड करने की प्रक्रिया

  • यदि आप मोबाइल app के जरिये क्रय प्रणाली का लाभ लेना चाहते है तो आपको सबसे पहले अधिकारिक पोर्टल पर जाना होगा ।
  • इसके बाद आपको सामने एक पेज ओपन होगा जिसमे आपको मोबाइल app डाउनलोड करने की लिंक दी गई है।
  • आपको दी गई लिंक पर क्लिक करना है ।
  • इसके बाद यह एप्लीकेशन आपके फ़ोन में डाउनलोड हो जाएगी।
  • डाउनलोड हो जाने के बाद आपको इस एप्लीकेशन को install करना है।

UP Gehu Kharid Registration Form PDF

  • यदि आप गेहूं खरीद का एप्लीकेशन फॉर्म पीडीऍफ़ में प्राप्त करनचाहते है तो आपको सबसे पहले आधिकारिक वेबसाइट जाना होगा।
  • इसके बाद आपके सामने के होम पेज ओपन होगा ।
  • इसमें आको डाउनलोड के आप्शन पर क्लिक करना है।
  • अब आपक्से सामने कई सारी सेवाओं ओपन हो जाएगी ।
  • इसके बाद UP Gehu Kharid Registration Form PDF पर क्लिक करके डाउनलोड कर सकते है।

UP Gehu Kharid हेल्पलाइन नंबर

किसान बन्धु मोबाइल एप में दी गयी जानकारी के सम्बन्ध में अपने जनपद के जिला खाद्य विपणन अधिकारी, क्षेत्रीय विपणन अधिकारी, विपणन निरीक्षक या टोल फ्री नम्बर 18001800150 पर सम्पर्क कर सकतें है।

Leave a Comment

error: Content is protected !!