Mukhyamantri Kisan Sahay Yojana 2021 – (કિસાન સહાય) ऑनलाइन आवेदन, पंजीकरण स्टेटस

Mukhyamantri Kisan Sahay Yojana: गुजरात सरकार के मुख्यमंत्री विजय रुपानी जी के द्वारा किसानो के लिए एक नई योजना को लेकर आये है। इस योजना के जरिये राज्य के किसानों को लाभ दिया जायेगा। इस योजना की शुरुआत 10 अगस्त 2020 को शुरआत की थी। योजना के तहत किसानो के प्राकर्तिक आपदाओं से होने वाले नुकसान की भरपाई सरकार द्वारा वहन किया जायेगा।

बता दें कृषि उपज में 33 % से 60 % तक प्राकर्तिक आपदाओं से होने वाले नुकसान को सरकार द्वारा मुआवजे के रूप में राशि दी जाएगी। किसानो को होने वाले नुकसान के लिए अधिकतम चार हेक्टेयर के लिए प्रति हेक्टेयर 20,000 रुपये का मुआवज़ा प्रदान किया जायेगा।

Kisan Sahay Yojana
Kisan Sahay Yojana

Mukhyamantri Kisan Sahay Yojana (કિસાન સહાય)

इस योजना के माध्यम से राज्य के सभी किसानो जिनके पास 4 हेक्टेयर तक की भूमि है और जो प्राकृतिक आपदाओं के कारण जैसे कि सुखा पड़ना, अधिकतम बारिश होना, बेमौसम वर्षा आदि के कारण फसलें नष्ट हो गई है। उन सभी किसानो को सरकार द्वारा मुआवजा दिया जायेगा। योजना के माध्यम से 33% से 60% तक नुकसान होने पर सरकार द्वारा आर्थिक सहायता दी जाएगी।

सरकार द्वारा आर्थिक सहायता के रूप में ₹20000 प्रति हेक्टेयर की दर से उसके खाते में DBT के माध्यम से दिए जायेगे। इसलिए प्रत्येक किसानो के पास बैंक में खाता होना जरूरी है। इस योजना में गुजरात के सभी छोटे और सीमांत किसान आवेदन कर सकते है। गुजरात राज्य के 53 लाख किसानों को इस योजना का सीधा लाभ दिया गया है। इस योजना की सबसे खास बात यह कि इसका लाभ प्राप्त करने के लिए कोई प्रीमियम की राशि का भुगतान नहीं करना पड़ता।

Gujarat Kisan Sahay Yojana Overview (કિસાન સહાય યોજના)

योजना का नाममुख्यमंत्री किसान सहाय योजना (કિસાન સહાય યોજના)
इनके द्वारा शुरू की गयी मुख्यमंत्री विजय रुपानी जी के द्वारा
लॉन्च की तारीक10 अगस्त 2020
मुआवजे कितनी हेक्टेयर पर मिलेगाअधिकतम 4 हेक्टेयर
प्रति हेक्टेयर मुआवजा राशिप्रति हेक्टेयर 20,000 रुपये
लाभार्थी राज्य के किसान
पंजीकरण प्रक्रियाऑनलाइन/ऑफलाइन
उद्देश्यकिसानो के फसलों को नुकसान की भरपाई
प्रीमियम की राशिकुछ नहीं
लाभप्राकृतिक आपदा से नुकसान पर किसानो को मुआवजा
आधिकारिक वेबसाइटClick Here

(કિસાન સહાય યોજના) मुख्‍यमंत्री किसान सहाय योजना का उद्देश्य

बता दें, गुजरात के कई ऐसी जगह है जहाँ पर बेमौसम बारिश ,बाढ़, भूकंप आदि आते रहते है। इस कारण किसानो की कई सारी फसलों का नुकसान उठाना पड़ता है। प्राकृतिक आपदाओं के कारण किसानो को आर्थिक रूप से बहुत परेशानी झेलनी पड़ती है। प्राकृतिक आपदाओं को ध्यान में रखते Kisan Sahay Yojana के तहत किन किन परिस्थितियों में सहायता दी जाएगी?हुए गुजरात सरकार ने मुख्यमंत्री किसान सहाय योजना की शुरआत की है।

इस योजना का मुख्य उद्देश्य किसानो को आर्थिक रूप से सहायता प्रदान करना। जिन किसानो की प्राकृतिक आपदाओं के कारण फसलों का नुकसान हो जाता है, उनकी आर्थिक रूप मदद करना, इस योजना का मुख्य उद्देश्य है। योजना के जरिये प्राकृतिक आपदाओं जैसे बे मौसम बारिश, बाढ़ आदि के कारण फसलों का नुकसान होने स्थिति में गुजरात सरकार द्वारा मुआवजे के रूप में 20000 रूपये प्रति हेक्टेयर की सहायता राशि उनके बैंक खाते में दी जाती है।

गुजरात किसान सहाय योजना के लाभ

  • मुख्‍यमंत्री किसान सहाय योजना के तहत 33 % से 60 % तक प्राकर्तिक आपदाओं के कारण हुई फसलों का नुकसान के लिए सरकार द्वारा प्रति हेक्टयेर 20,000 रूपये दिया जायेगा।
  • अधिकतम चार हेक्टयेर के लिए मुआवजा देने का प्रावधान है।
  • यदि 60 % से अधिक की फसलों का नुकसान हुआ है तो प्रति हेक्टेयर 25,000 रुपये का मुआवज़ा दिया जायेगा।
  • योजना के तहत लगभग 56 लाख किसानों को लाभान्वित करना है।
  • सूखा पड़ना, बेमौसम बरसात, अधिक बारिश होना इन सभी कारणों से फसलों को हुए नुकसान की भरपाई सरकार द्वारा की जाएगी।
  • योजना का सबसे बड़ा लाभ है कि किसानो को इस योजना में आवेदन के लिए न तो कोई फीस जमा करनी है और न ही कोई प्रीमियम का भुगतान करना है।
  • ‘रबी एवं खरीफ सीजन में बारिश में अनियमितता, बेमौसम बारिश के कारण होने वाले नुकसान को सरकार द्वारा लाभार्थी को आर्थिक मदद के रूप में दी जाएगी।

કિસાન સહાય યોજના (किसान सहाय योजना) पात्रता मानदंड

  • गुजरात मुख्‍यमंत्री किसान सहाय योजना का लाभ केवल गुजरात के किसानो को ही मिलेगा।
  • जिन किसानो ने इस योजना में आवेदन किया है वही किसान इस योजना का लाभ लेने के पात्र है। इसलिए सभी किसान पात्रता के आधार पर आवेदन जल्द से जल्द करें।
  • लाभार्थी किसान प्राकृतिक आपदाओं के कारण फसलों के नुकसान की स्थिति में किसान राज्य के आपदा प्रतिक्रिया राहत कोष से मुआवजा प्राप्त करने का हक़दार है।
  • इस योजना के पात्र वही किसान होंगे जिनकी प्राकृतिक आपदा जैसे- बाढ़, सूखा से नुकसान हुई हो।
  • किसान सहाय योजना (કિસાન સહાય) के तहत खरीफ 2020 सीजन में किसानो को लाभ पहुंचाया जायेगा।
  • योजना के तहत राजस्व रिकॉर्ड में पंजीकृत सभी 8-ए धारक किसान खाताधारक और वन अधिकार अधिनियम के तहत मान्यता प्राप्त किसानों को भी किये जाने का प्रावधान है।

मुख्‍यमंत्री किसान सहाय योजना आवश्यक दस्तावेज

  • आवेदक का आधार कार्ड
  • आवेदक का पहचान पत्र
  • आवेदक का निवास प्रमाण पत्र
  • आवेदक का आय प्रमाण पत्र
  • आवेदक के बैंक खाते का विवरण
  • आवेदक का मोबाइल नंबर
  • आवेदक के पासपोर्ट साइज फोटो

Kisan Sahay Yojana के तहत किन परिस्थितियों में सहायता दी जाएगी?

  • मुख्यमंत्री किसान सहाय योजना के तहत किसानो को तीन स्थिति में मुआवजा दिया जाता है।
    • भारी वर्षा होने की स्थिति में
    • सूखा पड़ने की स्थिति में
    • बेमौसम बारिश होने की स्थिति में

भारी वर्षा होने की स्थिति में

यदि किसी जिले में जरूरत से अधिक बारिश हो रही है इस कारण किसानो की फसलों का नुकसान हो रहा है तो ऐसी स्थिति में लाभार्थी मुख्यमंत्री किसान सहाय योजना के तहत क्लैम कर सकता है। इसके तहत उस जिले में 35 इंच या फिर 48 घंटे तक लगातार बारिश का होना आवश्यक है।

सूखा पड़ने की स्थिति में

यदि किसी जिले में सूखा पड़ रहा है, जिसके कारण वहां के किसानों की फसलों का नुकसान हो रहा है, तो ऐसी स्थिति में लाभार्थी मुख्यमंत्री किसान सहाय योजना के तहत क्लैम कर सकता है। ऐसी स्थिति तब मानी जाती है जब उस जिले में 10 इंच से कम बारिश हुई हो, फिर मानसून के मौसम में उस जिले में बारिश हुई ही न हो तब उस जिले में ऐसी स्थिति मानी जाती है।

बेमौसम बारिश होने की स्थिति में

यदि किसी जिले में बेमौसम बरसात हो रही है और इस कारण फसलों का नुकसान हो रहा है, ऐसी स्थिति में आप किसान सहाय योजना के जरिये क्लैम कर सकते है। ऐसी स्थिति उस जिले में 15 अक्टूबर से लेकर 15 नवंबर तक 50 एमएम ज्यादा बरसात 48 घंटे में पड़ रही हो तो उस स्थिति में इस योजना के जरिए मुआवजा प्राप्त करने का हक़दार है।

गुजरात किसान सहाय योजना (કિસાન સહાય ) में आवेदन कैसे करे ?

यदि आप इस योजना का लाभ लेना चाहते है तो आपको अभी थोड़ा इंजतार करना पड़ेगा, क्योकि अभी इसके ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन शुरू नहीं किये है। बता दें, अभी केवल इस योजना की घोषणा की गयी है। जैसे ही इस योजना में ऑनलाइन आवेदन शुरू हो जायेगे, हम आपको इस लेख के माध्यम से सूचित करेंगे। बता दें, गुजरात गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रुपानी द्वारा जल्द ही इस योजना का लाभ लेने के लिए एक पोर्टल लांच किया जायेगा, जिसके द्वारा सभी उम्मीदवार ऑनलाइन आवेदन कर सकते है। इसके अलावा अन्य जानकारी के लिए आप गुजरात सरकार की आधिकारिक वेबसाइट पर जाकर जानकारी प्राप्त कर सकते है।

मुख्‍यमंत्री किसान सहाय योजना (કિસાન સહાય) लाभार्थी सूची

इस योजना में लाभार्थी किसानो की सूचि गुजरात सरकार द्वारा निम्नलिखित प्रक्रिया के अनुसार तैयार की जाएगी।

  • सबसे पहले DC (District Collector) जिले के तालुका / गांवों की लिस्ट तैयार करेंगे। जिन किसानों की सूखे, भारी वर्षा या गैर-मौसमी वर्षा के कारण नुकसान हुआ हो उनकी एक लिस्ट तैयार की जाएगी।
  • उसके उस लिस्ट को 7 दिनों के भीतर राजस्व विभाग को साझा किया जायेगा।
  • सूचि साझा करने के बाद एक विशेष सर्वेक्षण टीम 15 दिनों के भीतर फसलों को नुकसान की समीक्षा करने आएगी।
  • विशेष सर्वेक्षण टीम द्वारा क्षति सर्वेक्षण पूरा होने के बाद, जिला विकास अधिकारी द्वारा हस्ताक्षरित आदेश द्वारा लाभार्थी किसानों की लिस्ट तैयार करने की घोषणा की जाएगी।
  • यह सूचि दो प्रकार से होगी, 33% से 60% और 60% से अधिक की फसलों की हानि होने की स्थिति में।

Leave a Comment

error: Content is protected !!