भारत में जनसंख्या जिस प्रकार से बढ़ रही है उसी प्रकार से बेरोजगारी दर भी बढ़ रही है।

क्योंकि भारत का युवा उत्पादन के क्षेत्र को छोड़कर नौकरी की चाह में लगा हुआ है।

जिसके कारण ही प्रति वर्ष लाखों नौकर पैदा हो जाते हैं। मगर नौकरी देने वाले बहुत ही कम लोग पैदा होते हैं।

इसके पीछे एक अन्य कारण यह है कि कोई भी फैक्ट्री या कारोबार करने के लिए बहुत अधिक धन की आवश्यकता होती है।

जो कि हर एक भारतीय के पास नहीं पाया जाता। तो ऐसे में लोग सरकारी नौकरी या प्राइवेट नौकरी की तरफ अग्रसर होते हैं।

Business loan किसी भी प्रकार के व्यवसाय को बढ़ाने या फिर नया व्यवसाय शुरू करने हेतु दिए जाते हैं।

जिनका उद्देश्य अधिक से अधिक लोगों को आत्मनिर्भर बनाना है। ताकि अधिक से अधिक लोग रोजगार देने वाले बन सकें।

Business loan कैसे लें, इसके बारे में जाननें के लिए नीचे दी गई लिंक पर क्लिक करें।