कोरोना काल में हर किसी के लिए हेल्थ इंश्योरेंस काफी जरूरी हो गया है।

अगर आपके पास मेडिकल इंश्योरेंस है तो यह आपको मेडिकल इमरजेंसी में प्रोटेक्ट करता है।

अगर आपके पास मेडिकल इंश्योरेंस है तो यह आपको मेडिकल इमरजेंसी में प्रोटेक्ट करता है।

अगर इंश्योरेंस है तो उसके बाद यह समझना जरूरी है कि क्या मेडिकल कवरेज पर्याप्त है। 

अगर इंश्योरेंस है तो उसके बाद यह समझना जरूरी है कि क्या मेडिकल कवरेज पर्याप्त है। 

अगर यह कम लग रहा है तो उसे बढ़ाने की जरूरत होती है। 

अगर आपको लगता है कि आपका मेडिकल कवर पर्याप्त नहीं है तो इन तीन तरीकों से बढ़ा सकते हैं।

अगर अस्पताल में भर्ती होने वाले खर्च के मुकाबले कवरेज कम पड़ रहा है तो आप सुपर टॉप-अप प्लान खरीद सकते हैं. यह आपके वर्तमान हेल्थ कवरेज पर एडिशनल प्रोटेक्शन देता है

पर टॉप-अप प्लान प्री एंड पोस्ट हॉस्पिटलाइजेशन दोनों को कवर करता है. इसके अलावा यह प्री-एग्जिस्टिंग कंडिशन और चाइल्डकेयर ट्रीटमेंट को भी शामिल करता है. 

मेडिकल इंश्योरेंस एक्सपर्ट्स की सलाह यह भी होती है कि परिवार में हर सदस्य के लिए इंडिविजुअल पॉलिसी खरीदने की जगह फैमिली फ्लोटर हेल्थ कवरेज खरीदना ज्यादा बेहतर होता है.