हेल्थ इंश्योरेंस के साथ भी कुछ इसी तरह की समस्याएं हैं

आप हेल्थ इंश्योरेंस इसलिए खरीदते हैं, जिससे जरूरत और मेडिकल अर्जेंसी पर आपका अच्छे अस्पताल में इलाज हो सके .

हेल्थ इंश्योरेंस कई तरह की बीमारी और हॉस्पिटलाइजेशन को कवर करता है. हालांकि, ज्यादातर इंश्योरेंस कंपनियां पुरानी बीमारियों को पॉलिसी खरीदने के चार सालों तक कवर नहीं करती हैं. 

अगर कोई कार सड़क पर चलती है कम से कम थर्ड पार्टी इंश्योरेंस होना जरूरी है. हालांकि, ड्राइवर के पास वैलिड ड्राइविंग लाइसेंस नहीं होने पर किसी तरह के क्लेम को इनकार किया जा सकता है.

इसके अलावा, अगर नई पॉलिसी किसी दूसरी कंपनी से लिया है तो वह पुराने डैमेज को कवर नहीं करेगी. अगर कार में चाभी लगी है गाड़ी चोरी कर ली जाती है तो इंश्योरेंस क्लेम नहीं मिलेगा.

अगर कार की ओरिजिन चाभी गुम हो गई है तो इंश्योरेंस कंपनी क्लेम देने में बदमाशी कर सकती है.

इसके अलावा लोग जॉब लॉस इंश्योरेंस भी खरीदते हैं. लेकिन, टर्म कंडिशन पर गौर करेंगे तो पता चलेगा कि अगर किसी को परफॉर्मेंस के आधार पर निकाला गया है तो उसे क्लेम नहीं मिलेगा.

अगर चोर में तोड़-फोड़ कर घुसते हैं तो इंश्योरेंस का लाभ मिलेगा. वैसे चोरी के मामले में इंश्योरेंस का लाभ नहीं मिलता है.

अगर आप हेल्थ से सबंधित रोचक टिप्स जानना चाहते है तो आप नीचे दी गई लिंक पर क्लिक करें