Center Govt ने 29 श्रम कानूनों को मिलाकर 4 नए वेतन कोड (New Wage Code) को तैयार किया है.

4 नए वेतन कोड में मजदूरी पर कोड, औद्योगिक संबंध पर कोड, व्यावसायिक सुरक्षा और स्वास्थ्य (OSH), सामाजिक सुरक्षा संहिता पर कोड शामिल किये गये है।

साल 2019 के अनुसार, किसी भी कर्मचारी का मूल वेतन कंपनी की लागत (Cost to Company-CTC) के 50 फीसदी से कम नहीं हो सकती है.

कई कंपनियां अपने बोझ को कम करने के लिए मूल वेतन में कटौती करती है और ऊपर से भत्ता देती है.

जिससे कर्मचारियों का काफी नुकसान होता है.

न्यू वेज कोड के लागू होने से वेतन भोगियों की सैलरी स्ट्रक्चर में बड़ा बदलाव आ जायेगा.

अधिक जाननें के लिए नीचे दी गई लिंक पर क्लिक करें